वन स्टाप सेंटर ने नाबालिग बालिका का विवाह रोका

nspnews 15-05-2019 Regional

बालाघाट। वन स्टॉप सेण्टर (सखी) बालाघाट में निवासरत बालिका निशा (16 वर्ष ) बालाघाट निवासी जिसकी विगत महीनो से गुमशुदा की रिपोर्ट थाना कोतवाली बालाघाट में दर्ज थी। थाना वारासिवनी के माध्यम से वन स्टॉप सेण्टर बालाघाट लाई गई, बालिका अपनी आयु 19 वर्ष बता रही थी तथा एक युवक से विवाह करना चाहती थी। किन्तु आयु की सही गणना किये बिना बालिका का विवाह नहीं कराया जा सकता था।
     इसके लिए वन स्टॉप सेण्टर बालाघाट की श्रीमती कल्पना जैन (प्रशासक), श्रीमती कौतिका नारनौरे (केस वर्कर), नीरज स्वामी (आउटरिच वर्कर) एवं सेण्टर के समस्त स्टॉप द्वारा किये गए अथक प्रयासों से बालिका के माता पिता की खोज कर बालिका के आयु प्रमाण पत्र से आयु 16 वर्ष प्राप्त हुई, बालिका को बताया गया कि 18 वर्ष से कम आयु की बालिका का विवाह अपराध है, तथा बालिका के माता पिता एवं बालिका के बीच समन्वय स्थापित कर बालिका को 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने तक माता पिता के साथ रहने की समझाइश/परामर्श  देकर बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कर माता पिता के सुपुर्द किया, इस तरह एक नाबालिक बालिका का उसके घर पुनर्वास कर बालिका के भविष्य सवारने का काम वन स्टॉप सेण्टर बालाघाट द्वारा किया गया।

प्रादेशिक