मासिक काव्यगोष्ठी में रचनाकारों ने दी प्रस्तुति

nspnews 19-05-2019 Regional

नरसिंहपुर। जिला साहित्य सेवा समिति नरसिंहपुर की 81 वीं मासिक काव्यगोष्ठी स्थानीय गायत्री मंदिर स्थित बाल संस्कार शाला में आयोजित हुई। वरिष्ठ कवि रमाकान्त गुप्ता नीर की अध्यक्षता में रखी गई उक्त गोष्ठी की शुरुआत सरस्वती पूजन व डॉ. महेश त्रिपाठी द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से हुई। संचालन कर रहे माल्हनवाड़ा के कवि प्रशांत शर्मा सरल ने आयी गरमी तनवा झुलसे अब रोम-रोम से बूँदें बरसे, बरखा रानी ज़ल्दी आओ मन-मयूर मेरा हर्षीओ। रचना प्रस्तुत कर मौसम की तल्खी की ओर इशारा किया वहीं मोहद के कवि सतीश तिवारी सरस ने प्यार की चाह मन में लिए ढल रही दिन-ब-दिन दिन ज़िन्दगी, ऐसा लगता कि ख़ुद को ही ख़ुद छल रही दिन-ब-दिन ज़िन्दगी। गीत गुनगुनाकर गोष्ठी को लयात्मकता प्रदान की। कविवर महेश त्रिपाठी ने जिस घर में होता बेटी का जन्म वह देवलोक बन जाता, खुशहाली छा जाती चहुँओर वह वरसाना कहलाता कविता सुनाकर बेटी के प्रति अपने भाव रखे वहीं रमाकान्त गुप्ता नीर ने गीत ज़िन्दगी के हम गायेंगे सुनायेंगे, मुश्किलें हजार हों फिर भी मुस्करायेंगे रचना प्रस्तुत की। 

प्रादेशिक